छत्तीसगढ़ के एक इंजीनियर ने 24 लाख रूपए की नौकरी छोड़ी, अब खेती से कमाने लगा 2 करोड़ रूपए

छत्तीसगढ़ के एक इंजीनियर ने 24 लाख रूपए की नौकरी छोड़ी, अब खेती से कमाने लगा 2 करोड़ रूपए

अगर आप किसी बड़ी नौकरी में है यानी लाखों रूपए महीने कमा रहे हैं। ऐसे में वो शानदार कमाई वाली नौकरी छोड़ना और वो भी खेती के लिए, तो इसे आपके साथी लोग बड़ी मूर्खताभर कदम ही करार देंगे। छत्तीसगढ़ के सचिन के साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ। लेकिन उनके लिया हुआ रिस्क आज उनको नौकरी से करीब 10 गुना ज्यादा कमाई करवा रहा है। यानी 24 लाख की नौकरी छोड़कर अब वो 2 करोड़ रूपए कमा रहे हैं।

दरअसल, इंजीनियरिंग में पीएचडी होल्ड करने वाले सचिन काले ने 24 लाख का सालाना पैकेज छोड़ दिया। उनका ये फैसला सही साबित हुआ और अब वो खेती से लगभग 2 करोड़ रुपए हर साल कमा रहे हैं।

लाखों की नौकरी छोड़ कर रहे खेती

सचिन, छत्तीसगढ़ में तखतपुर ब्लॉक के मेढ़पार बाजार के रहने वाले है। करीब 3 साल पहले तक वो भी बाकी पढ़े लिखे युवाओं की तरह बड़ कंपनी में काम करते थे। और इंजीनियर की नौकरी के तौर पर बंगला, गाड़ी, नौकर-चाकर के साथ साथ 24 लाख रुपए हर साल तन्ख्वाह के तौर पर पाते थे।

लेकिन तभी 2014 में सचिन का इरादा बदला और वो खेती के तरफ अपनी रूचि बढ़ाने लगे। इसी साल वो नौकरी छोड़कर घर वापस आ गए। सचिन के पास पुश्तैनी 20 एकड़ खेती की जमीन पहले से ही थी।

खेती को दे रहे कार्पोरेट रूप

सचिन ने बाकी लोगों के उलट एक सीधा और सरल काम किया। नौकरी छोड़कर गांव वापस आते ही तुरंत एक कंपनी बनाई, जिसका नाम रखा इनोवेटिव एग्री लाइफ सालूशन प्राइवेट लिमिटेड।

इसका फायदा उनको ये मिला कि अब खेती पर होने वाले खर्च और उससे होने वाली आय, सबकुछ कंपनी का ही हिस्सा था। इससे उनको खेती के बिजनस के तौर पर बड़े स्तर पर करने में काफी मदद मिली। अब उनकी कंपनी का सालाना टर्नओवर 2 करोड़ रुपए तक पहुंच गया है।

किसान लेने आते हैं सलाह

सचिन की खेती में सफलता की गूंज आसपास के सभी इलाकों में भी फैल गई। अब दूर दूर से लोग उनकी खेती और खेती करने के बिजनस मॉडल समझने के लिए रोजाना ही आते हैं।

अच्छी पैदावार होने पर वो सचिन से सलाह लेने भी आते रहते हैं। सचिन की उम्र 38 साल है और उन्होंने 12 साल तक दिल्ली, पुणे, नागपुर, मुंबई में नौकरी की।

Source : kisankhabar
Spread the love
  • 18
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *